महादेव, भोले शंकर और हर हर महादेव बोलने का महत्व

pradeep mishra ji

नमः शिवाय:

श्री शिवाय नमस्तुभ्यं

पंडित श्री प्रदीप मिश्रा जी (सीहोरे वाले) द्वारा श्री शिव महापुराण की कथा में बताये कुछ अचूक उपाय लिखित रूप में

महादेव, भोले शंकर और हर हर महादेव बोलने का महत्व

महादेव : अगर किसी व्यक्ति के जीवन में कोई कार्य है जो बहुत समय से अटक रहा हो या अथक प्रयास के बाद भी काम में कोई उन्नति नहीं मिल रही तो ऐसा व्यक्ति जब भी उस कार्य के लिए घर से निकले तो ऐसा कह के निकले की आज मैं अपने इस कार्य के लिए जा रहा हूं और मेरे साथ मेरा महादेव जा रहा है।15 से 20 दिन ऐसा कर के देखे। जो भी कार्य अटक रहा था उसमें सफलता मिलने से कोई नहीं रोक सकता। महादेव शब्द में इतनी प्रबलता है कि इसे बोलने से ही व्यक्ति के सभी कार्य बन जाते हैं।

हर हर महादेवी : अगर हमने किसी की निंदा सुन ली हो या कर दी हो, किसी को कोई अपशब्द कहा दिया हो, कुछ गलत बोला हो तो दिन भर में कम से कम 3 बार या तो हर हर महादेव, या हर हर गंगे या नर्मदे हर का उच्चारण कर लेने से जीव के मस्तक का सब पाप समाप्त होने लगता है।

भोले शंकर : कोई व्यक्ति अगर किसी दो निर्णय के बीच फस गया हो, और समझ नहीं आ रहा की क्या करे तो ऐसे में एक बेल पत्र लेकर भोले शंकर का नाम लेकर, बेल पत्र की पेड़ के नीचे समर्पित कर दे और कोई भी एक निर्णय चुन ले। वह निर्णय सफल ही होगा।

हर हर महादेव

इस तरह के और उपाय पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published.